बुधवार, 4 मार्च 2015

409 .बेकारी में

४०९ 
बेकारी में 
याद आते हैं 
वो बहादुरी के दिन 
सोकर जब उठते 
भोजन कर फिर सोते 
इंटर की थी वो परीक्षा 
थे जो तब हम देते !

सुधीर कुमार ' सवेरा '

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें