रविवार, 16 अगस्त 2015

535 . जान पे बन आयी तो

                                      यादें 
                           ( बेटी का जन्म दिन )
५३५ 
जान पे बन आयी तो 
दामाद जी सासु माँ के लिए ये क्या कह दिया 
बनाना रिपब्लिक अर्थात भ्रष्टाचार , माफियाराज 
और राजनितिक अव्यवस्थाओं का बोलबाला 
अरे दामाद जी ऐसा न होता तो 
आप इतना माल भला कैसे बनाते ?
इतना V V I P स्वागत भला कैसे होता ?
बिना रोक टोक भला कैसे आते जाते !

सुधीर कुमार ' सवेरा '
०८ - १० - २०१२ 
११ - ३० am 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें