सोमवार, 13 अक्तूबर 2014

312 .ये है क्लेम एंड प्रिभेन्षन सेक्सन

३१२ .

ये है क्लेम एंड प्रिभेन्षन सेक्सन 

जहां होता नहीं कोई रिपोर्ट मेन्षन 

यदा कदा गर कभी हो जाता इंट्री 

पर हो पता नहीं कभी भ़ी रिकॉभरी 

यह है एक तरह का चेम्बर 

जिसमे रहते पूरे दस मेंबर 

ये सब के सब स्टाफ हैं 

बनाते केवल बात हैं 

इनका केवल एक है काम 

लेते रहना लाटरी का नाम 

ये आफिस क़म कैंटीन है 

काम यहाँ जुर्म संगीन है 

चाय पीते यहाँ दिन बीते 

फाइल यहाँ कोई न खुलते 

डींग हाँकना है इनका काम 

सभी हाँके बस अपना नाम 

किसका किससे क्या चक्कर है 

नमकीन है ओ या शक्‍कड़ है 

काम हो कम बातें ज्यादा 

बस यही एक है इनका नारा 

टेबुल पे सर रख कर सोना 

बस यही दिन भर इनको है करना |


सुधीर कुमार ' सवेरा ' २५ - ०२ - १९८४ 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें