बुधवार, 5 अगस्त 2015

525 .आज भर दिन के समाचार का यही है सार

५२५ 
आज भर दिन के समाचार का यही है सार 
देश के वीरों तुमने कर दिया कमाल 
चाहे हो बच्चा बूढ़ा और जवान 
चाहे हो नर या नारी या छोटा बड़ा इंसान 
सबको मेरा बार - बार प्रणाम 
चैनल कहती रही कोई लोग नहीं भीड़ नहीं 
आपस में एक बात पर है कोई  मेल नहीं 
पर रह गए सब के सब भौंचके इसकी टोपी है उसकी नहीं 
जब छा गए वीर जवान चप्पे - चप्पे 
तुमने आज कर दिखाया ऐसा कमाल 
इतिहास जिसका बार - बार देगा मिसाल 
भ्रष्टाचार रूपी जड़ पे है ये एक बड़ा प्रहार 
जिसने देश को जगाने का 
सबका असली चेहरा दिखलाने का 
काम किया है आज बड़ा कमाल 
जैसी खायी आज लाठियां आंसू गैस और पानी की बौछार 
ये था वीरों का तप पायी जिससे विजयी हार 
आज वीरों ने कर दिया कमाल 
वो डरे थे सहमे थे बार - बार पैंतरे बदले थे 
हड़बड़ी में मेट्रो बंद करवाये फिर खुलवाये थे 
ऐसी ही चोट होती रहे बार - बार 
वीरों तुझे मेरा बार - बार प्रणाम ! 

सुधीर कुमार ' सवेरा ' 
२६ - ०८ - २०१२ 
७ - ०९ pm 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें